कण कण में बसा प्रभु देख रहा हे | चाहे पुण्य करो या पाप करो#वैदिक_भजन​#वैदिक_राष्ट्र​#आर्यसमाज_इंदौर

 पंडित सत्यपाल पथिक द्वारा रचित इस भजन को सुनिए _कण कण में बसा प्रभु देख रहा हे चाहे पुण्य करो या पाप करो

इस तरह के वैदिक भजनो के लिए और वैदिकलेखों ,प्रेरणादायक कहानियां, महापुरुषों के #जीवनपरिचय#नीतिगतज्ञान​ के लिए पंचतंत्र #चाणक्यनीति#विदुरनीति#शुक्रनीति​ के वचनों के साथ वैदिक भजनों के लिए भी #वैदिकराष्ट्र​ को लाइक करें #वैदिकराष्ट्र​ को शेयर करें #वैदिकराष्ट्र​ को सब्सक्राइब करें
धन्यवाद
parichay samelan, marriage buero for all hindu cast, love marigge , intercast marriage , arranged marriagerajistertion call-9977987777, 9977957777, 9977967777aryasamaj marriage rules,leagal marriage services in aryasamaj mandir indore ,advantages arranging marriage with aryasamaj procedure ,aryasamaj mandir

Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।