महान कार्य करने वालों को महापुरुष कहा जाता है

महान कार्य करने वालों को महापुरुष कहा जाता है!! ऐसी मान्यता है कि महापुरुष अमर होते हैं !भारत में महापुरुषों की एक लंबी श्रंखला और परंपरा है! ऐसे ही एक महापुरुष पंडित गुरुदत्त विद्यार्थी थे ! आप 19वीं शताब्दी मैं तेजी से पतन हो रहा है वैदिक धर्म और संस्कृति के रक्षक सुधारक देश की आजादी के मंत्र दाता व प्रेरक सहित समग्र सामाजिक और राजनीतिक क्रांति के जनक ऋषि दयानंद के भक्त अनुयाई और उनके मिशन के प्रचारक प्रसारक रक्षक थे ! 26 अप्रैल को उनकी जयंती दिवस पर देश व जाति पर उनके ऋण से उऋण होने के लिए उन्हें स्मरण करना श्रद्धांजलि देना प्रत्येक देश भक्त ऋषि भक्त आर्य समाज के अनुयाई और देशवासी का कर्तव्य है! जानिए ऋषि दयानंद की अंतिम अवस्था को देखकर कौन पूर्णता नास्तिक से आस्तिक हो गया था? इस तरह के वैदिक_लेखों प्रेरणादायक_कहानियां महापुरुषों के #जीवन_परिचय​ #नीतिगत_ज्ञान​ के लिए पंचतंत्र #चाणक्य_नीति​ #विदुरनीति​ #शुक्रनीति​ के वचनों के साथ वैदिक भजनों के लिए भी #वैदिक_राष्ट्र​ को लाइक करें #वैदिक_राष्ट्र​ को शेयर करें #वैदिक_राष्ट्र​ को सब्सक्राइब करें धन्यवाद

parichay samelan, marriage buero for all hindu cast, love marigge , intercast marriage , arranged marriagerajistertion call-9977987777, 9977957777, 9977967777aryasamaj marriage rules,leagal marriage services in aryasamaj mandir indore ,advantages arranging marriage with aryasamaj procedure ,aryasamaj mandir marriage rituals


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।