जीव शुभाशुभ कर्म करने में स्वतंत्र और उनका फल भोगने में ईश्वर के अधीन है#वैदिकराष्ट्र​#वेदभजन


 

जीव शुभाशुभ कर्म करने में स्वतंत्र और उनका फल भोगने में ईश्वर के अधीन है#वैदिकराष्ट्र#वेदभजन

Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।