आक्रामकता में ही बचाव निहित है।

आक्रामकता में ही बचाव निहित है।


जय श्री राम
1 घर में हमेशा 3-4  कांच की बोतलें पेट्रोल से भरकर रखें और उनके साथ कम से कम 200 ग्राम रुई अवश्य रखें समय पर या जरूरत पड़ने पर काम में लिया जा सके ज्यादा नहीं करना होता केवल रुई को बोतल में डालें और आग लगाकर आप पर हमला कर रही भीड़ पर फेंक दें


2. अगर आप किसान हैं तो घर में पुराने फसल निकालने के औजार समय पर काम में ले सकते हैं जो कि आगे से बहुत तीखे होते हैं और भाले की तरह अच्छे काम दे सकते हैं यह आत्मरक्षा के लिए सबसे सुलभ औजार हैं।


3. अगर आप प्रतिदिन अपने समय में से महीने में 10 दिन अपनी सुरक्षा के लिए काम में लें और एक अच्छा धनुष के साथ साथ अगर 50 से 100 तीर आपके पास हो तो आप कम से कम 30 से 35 लोगों को रोकने में सक्षम होंगे और एक कालोनी में अगर ऐसे 10 लोग हैं तो आप खुद अंदाजा लगा लीजिए कि बेंगलुरु जैसी हत्यारी भीड़ कितने सेकंड में आप काबू कर पाएंगे।


4. ऐसी स्थिति में कभी भी डरे मत और अपने पड़ोसी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हो क्योंकि जब पड़ोसी का घर जलेगा तो आपका भी नहीं बचेगा


5. गाड़ी सबसे ज्यादा सुरक्षात्मक गिरा है आपका अगर और कुछ नहीं कर सकते और सामने की भीड़ आप पर हमला कर रही है आग लगा रही है गाड़ी में से निकले नहीं उसे कुचल दें थोड़ी देर में रास्ता अपने आप साफ हो जाएगा।


6. कभी भी भीड़ के सामने डरकर आत्मसमर्पण ना करें अगर आपको लगता है कि आपकी जान और माल को खतरा है तो उसी जान और महाल को हथियार बनाएं क्योंकि ऐसी हालत में आपकी तो जान गई ही है लेकिन आपने अगर दो चार को भी घेर लिया तो पूरी भीड़ कुछ पल में ही छूट जाएगी।


7. कभी भी पुलिस और प्रशासन की मदद के भरोसे ना रहें क्योंकि जब तक वह पहुंचेंगे तब तक आपका बहुत बड़ा नुकसान हो चुका होगा वह भी कोई ईश्वर नहीं है आपकी तरह ही आम इंसान हैं।


8. अपने घर मकान या दुकान की बालकनी या जो भी सड़क से लगता एरिया है उस पर कम से कम 50 60 इंट और कुछ पत्थर अवश्य जमा करके रखें अगर आपको लगता है कि वह सुंदर नहीं है देखने में भद्दे लगेंगे तो उन्हें 4 या5 रंग में रंग कर सजावट के रूप में रख लीजिए यकीन मानिए सुरक्षा के साथ-साथ आपके घर की सुंदरता भी बढ़ाएंगे।


9. अपने पूरे मोहल्ले की या कॉलोनी की एक सुरक्षात्मक टीम भी रखिए जो आपात स्थिति में आपकी मदद कर सके और आपस में पूरा सहयोग दे सकें।


10. हमेशा बैकअप प्लान तैयार रखें कि अगर ऐसा हमला होता है तो हमें कहां से क्या-क्या करना है और किसकी भूमिका क्या रहेगी।


11. अपने मोहल्ले के गली ब्वॉय या जो आवारा लड़के हैं उनको थोड़ा सम्मान दीजिए वह अगर अन्य कोई काम नहीं कर रहे हैं या नहीं कर सकते हैं तो उन्हें एहसास दिलाया कि पूरे मोहल्ले या कॉलोनी की सुरक्षा उन्हीं के हाथ में हैं यकीन मानिए पुलिस से पहले यह आपके साथ खड़े होंगे।


12. अगर आपको लगता है की आपात स्थिति है और आप कुछ नहीं कर सकते गैस सिलेंडर को ही खोल कर जला कर फेंक दें यकीन मानिए कुछ नहीं होगा लेकिन इसका जो संदेश जाएगा उसे सारी भीड़ 1 मिनट में तितर-बितर हो जाएगी


13. जहां तक हो सके तलवार भला या बरछा जैसे हथियार हमेशा अपने पास रखिए


14. कम से कम घर में 8/10 ऐसी लाठियां अवश्य जिनके आगे नोकदार सरिए लगे हो और आप उन्हें हमलावर भीड़ पर फेंक सकें


15.घर में लाल मिर्च का पाऊडर रखिये, यदि भीड़ आपके ऊपर हमला करती है तो लाल मिर्च पाउडर को भीड़ के ऊपर फेंककर उन्हें भागने के लिए मजबूर किया जा सकता है। 


16. सबसे जरूरी भीड़ को आप पर हमला करने का मौका ना दें आपको लगे कि भीड़ उग्र हो चुकी है तो पहले उन पर हमला करें 2 मिनट में पूरी भीड़ तितर-बितर हो जाएगी वह केवल लुटेरे हैं इससे अधिक कुछ नहीं


इसके अलावा अगर आपके पास कोई अन्य सुझाव हो तो हमें भेजिए


अगर आप महिला हैं तो अपने पास हमेशा चिल्ली गन रखें और यह अपनी गाड़ी में 5-7 की मात्रा में तो अवश्य रखें ₹600 के खर्चे में आपकी जान और आप क्या दुपहिया या कार जो भी है उसकी लगभग सुरक्षा तो करेगी
धन्यवाद नहीं भाई जितना मैं जानता हूं और कितना कर सकता हूं हम कर रहे हैं ध्यान रखिए कि आपको जीवन में केवल एक बार ऐसी घटना का सामना करना पड़ता है लेकिन उसी घटना में आपका सब कुछ बर्बाद हो जाता है इससे अधिक मैं शायद ही किसी को कोई सुझाव दे सकूं इसलिए डटकर मुकाबला करिए सीधा मरने से अच्छा है लड़कर मरिए क्योंकि लड़ने के बाद आपके जिंदा रहने के चांसेस बहुत ज्यादा बढ़ जाते हैं।


गुरु गुलाब खत्री


samelan, marriage buero for all hindu cast, love marigge , intercast marriage , arranged marriage


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।