अपना भाग्य / भविष्य जानने के लिए दूर दूर न भटकें। 


       



 


 


 


 


 


 अपना भाग्य / भविष्य जानने के लिए दूर दूर न भटकें। 
       संसार में बहुत लोग अपना भाग्य या भविष्य जानने को उत्सुक रहते हैं। कोई सुबह-सुबह टेलीविजन पर देखता है , कि आप का आज का भविष्य कैसा रहेगा? कोई सुबह-सुबह अखबार देखता है. कोई दिन में ज्योतिषियों के आगे पीछे चक्कर काटता है। दूर-दूर तक लोग ज्योतिषियों के पास अपना भविष्य जानने के लिए भटकते देखे गए हैं। 
एक दिन मैंने एक भविष्य बताने वाले ज्योतिषी से पूछा,  क्या आप अपना भविष्य जानते हैं? उसने भी खुलकर स्पष्ट बता दिया कि नहीं जानता.
 तो मैंने उससे कहा कि जब आप अपना ही भविष्य स्वयं नहीं जानते, तो दूसरों का कैसे जानेंगे? जब आप दूसरों का भविष्य नहीं जानते, तो क्यों व्यर्थ में लोगों को झूठ बोलकर धोखा देते हो? मेरी इतनी बात सुनकर वह वहां से उठकर भाग गया।
        और आजकल जो कोरोना की समस्या चल रही है, अब इनका भविष्यफल कहां चला गया। 
         जिन ज्योतिषियों के द्वारा बताया गया था कि मार्च-अप्रैल की इन तिथियों का मुहूर्त अच्छा है, इन दिनों में आप विवाह कर लेवें। अब तो पूरा भारत देश लॉक डाउन कर रखा है . अब उनकी भविष्यवाणी का क्या हुआ? बंधुओ ! कुछ बुद्धि से सोचो। आंखें खोलो। सच्चाई को समझो। व्यर्थ की झूठी बातों में अपना समय शक्ति धन बुद्धि व्यर्थ नष्ट मत करो। 
          यह भविष्यफल सब झूठ और पाखंड है।  दूसरों का भविष्य बताने वाले ये ज्योतिषी खुद बेचारे आज भटक रहे हैं, और सरकार से पूछते फिरते हैं कि आपका यह लॉक डाउन कब खत्म होगा?              आप जो सुबह से शाम तक पुरुषार्थ करते हैं, प्रयत्न करते हैं, अच्छी बुरी योजनाएं बनाते हैं, उसके अनुसार अच्छे बुरे कर्म करते हैं । इन्हीं कर्मों से आपका भाग्य बनता है ।
       भाग्य क्या है ? आपके अपने कर्म का फल । तो कर्म करने में आप स्वतंत्र हैं। इसका अर्थ हुआ कि आप रोज अपना भाग्य स्वयं बनाते हैं। तो आप स्वयं जानते हैं मेरा भाग्य कैसा है! क्योंकि वह आपने स्वयं ही बनाया है। इसलिए उसे जानने के लिए इधर-उधर भटकने की कोई आवश्यकता नहीं है। अपने कर्मों को सुधारें , आपका भविष्य और भाग्य बहुत उत्तम होगा।
इसलिए बुद्धि से विचार कर के सही निर्णय लेना चाहिए। सत्य को स्वीकार करना चाहिए। दुखों से बचकर आनंद से जीवन जीना चाहिए।   


 


sarvjatiy parichay samelan,marigge buero for all hindu cast,love marigge ,intercast marigge 


 rajistertion call-9977987777,9977957777,9977967777or rajisterd free aryavivha.com/aryavivha app


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।