खीरे के पौष्टिक तत्व

खीरे के पौष्टिक तत्व



       खीरे में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व किसी भी अन्य सब्ज़ी से कहीं अधिक होते हैं। खीरे में सबसे कम कैलोरी होती है अर्थात् 100 ग्राम खीरे में लगभग 15.54 कैलोरी। इसमें 97% पानी होता है, जिसमें कई प्रकार के विटामिन होते हैं जैसे कि विटामिन ए, बी1, बी6, बी12, सी, डी, के आदि। खीरा मिनिरल्स से भरपूर होता है जैसे कि मैग्नीशियम, मैंगनीज़, पोटेशियम, फोसफोरस, कौपर और मोलिब्डेनम आदि। पोषक तत्त्वों की यह सूची यहां भी खत्म नहीं होती है। खीरे का सेवन करने से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट और फ्लेवनॉयड्स की पूर्ति होती है, जिससे ब्लड स्ट्रीम में फ्री रैडिकल्स को नष्ट करने में मदद मिलती है।


दमकती त्वचा पाने के लिए खीरे के अद्भुत फ़ायदे


विभिन्न तरह से इस अद्भुत पौष्टिक गुणों से युक्त सब्जी का इस्तेमाल करके आप इसके फ़ायदों का लाभ उठा सकते हैं। नीचे त्वचा और बालों के लिए खीरे के फायदों को सूचीबद्ध किया गया है। अधिक जानने के लिए आगे पढ़े।


1 . चेहरे की त्वचा को पुनर्जीवित करना - खीरे का रस त्वचा के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है क्योंकि चेहरे पर इसे लगाने से त्वचा में कसाव और जवां निखार आता है। पहली बार इसका इस्तेमाल करने पर आप इसका असर देख सकते हैं और नियमित रूप से इसका सेवन करने से त्वचा पर आई झुरियां कम हो जाएंगी।


2. त्वचा से टैनिंग हटाना - धूप से होने वाली टैनिंग से बचना मुश्किल है क्योंकि हमे रोज़ाना कामकाज की वज़ह से बाहर जाना पड़ता है। लेकिन हफ्ते में तीन बार टैनिंग से प्रभावित त्वचा पर खीरे के फेस पैक का इस्तेमाल करना फ़ायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इससे त्वचा में निखार आता है। खीरा विटामिन सी से भरपूर होता है, जिससे टैनिंग का असर कम करने में मदद मिलती है।


3. आंखों की सूजन और पफनैस को कम करना - खीरे का अन्य स्वास्थ्य लाभ यह है कि यह आंखों की पफनैस को कम करने में सहायक होता है। वाटर रिटेंशन आंखों में समा जाता है और इससेे आंखों के नीचे सूजन आ जाती है। आराम करने के दौरान 10 मिनट आंखों पर खीरे के टुकड़े रखने से रखने से आँखो के नीचे आई सूजन को कम करने में मदद मिलती है। खीरे में मौजूद अस्कॉर्बिक और कैफ़िक एसिड शरीर में वाटर रिटेंशन की दर कम करते हैं।


4. सनबर्न से राहत और उपचार - त्वचा के स्वास्थ्य के लिए सनबर्न होना किसी भयानक सपने से कम नहीं है। नियमित रूप से सनबर्न होने से स्किन कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है। धूप से जली त्वचा पर खीरे का पेस्ट लगाने से त्वचा को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है क्योंकि इसमें बायोटीन, विटामिन ए और डी होता है। खीरा शरीर से गर्मी बाहल निकालने में सक्षम होता है।


5. त्वचा में निखार लाना - प्रदूषण के कारण त्वचा बुझी-बुझी और बेजान नजर आती है। कामकाज के लिए बाहर जाने से त्वचा धूल-मिट्टी के संपर्क में आती है, जिससे और नुक्सान होता है। रोज़ाना खीरा खाने का यह फायदा है कि यह आपकी त्वचा को तरोताजा रखता है और उसमें निखार लाता है, चाहे आपकी त्वचा को कितने भी तनाव से क्यों न गुजरना पड़े।


6. खुले रोम छिद्रों का उपचार - खीरे में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी रोम छिद्रों को साफ़ करने में मदद करते हैं। खीरे शरीर को ठंडक पहुंचाते हैं, जिससे गर्मी रोम छिद्रों के माध्यम से बाहर निकल जाती है और यह त्वचा में कसाव लाकर उसके आकार को कम कर देता है।


7. सेल्युलाइट के उत्पादन को कम करना - सेल्युलाइट सभी इंसानों के शरीर में मौजूद होते हैं, विशेषकर की कंधे, जांघ और कूल्हों पर। नियमित रूप से खीरे का रस पीने और प्रभावित हिस्से पर खीरा का मास्क लगाने से, त्वचा का लचीलापन और कोलोजन के स्तर को बढ़ाने वाले फाइटोकेमिकल्स सेल्युलाइट को नष्ट करने में मदद करते हैं।


8. आंखों के नीचे काले घेरों को कम करना - डार्क सर्कल कई कारणों से हो सकते हैं, जैसे कि देर रात तक जगना, काम करना, तनाव और डिप्रेशन आदि। हालांकि डार्क सर्कल्स को खीरा हमेशा के लिए नहीं हटाता है लेकिन खीरे के टुकड़े को 15 मिनट आंखों पर लगाने से आप डार्क सर्कल्स को कम होते हुए देख सकते हैं। खीरे में मौजूद सिलिका और एंटीऑक्सीडेंट के कारण डार्क सर्कल्स कम करने में मदद मिलती है।


9. दाग-धब्बे दूर करना - कील-मुंहासों के कारण चेहरे पर हुए दाग-धब्बे दूर करने के लिए खीरे का प्रयोग किया जा सकता है। खीरे के एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण के कारण त्वचा को राहत मिलती है और दाग-धब्बे दूर होते हैं।


10. अंडर आई रिंकल दूर करना - कुछ लोगों की आंखों में फोन, लैपटॉप और गैजेट्स का प्रयोग करने के कारण रिंकल आ जाते हैं। ज्यादा समय सक्रिन के आगे बिताने से समय से पहले आंखों के नीचे रिंकल आने लगते हैं। खीरे में मौजूद पानी आपकी त्वचा को हाइड्रेट करता है और आंखों के आसपास की त्वचा से रिंकल दूर करता है। जल्द इसका लाभ प्राप्त करने के लिए नियमित रूप से खीरे के रस का सेवन करें।


11. अतिरिक्त पानी हटाना - अधिकतर लोग वाटर रिटेंशन की समस्या से प्रभावित होते हैं। जिसमें किडनी शरीर से अतिरिक्त पानी बाहर निकालने के लिए अच्छी तरह काम नहीं करती है। खीरे के रस का सेवन करने का फायदा यह है कि यह शरीर से अतिरिक्त पानी बाहर निकालता है और जो पैरों, जोड़ों और चेहरे पर सूजन का कारण बनता है।


12. अंडर आई बैग से छुटकारा - थकावट और कमज़ोरी से आंखों के नीचे अंडर आई बैग हो सकते हैं। आंखों के नीचे रूई की मदद से खीरे का रस लगाने से आंखों के नीचे अंडर आई बैग कम होते हैं और स्किन टोन बेहतर होता है। इससे आपका चेहरा तरोताजा होता है और त्वचा जवां नजर आती है।


13. बालों का सफेद होना कम करें - खीरा बालों और नाखून के लिए भी फ़ायदेमंद होता है क्योंकि आप बालों की समस्या का उपचार रोज़ाना खीरा खाकर या खीरे का पेस्ट बालों की जड़ों पर लगा कर इसका उपचार कर सकते हैं। खीरे में मौजूद सिलिकॉन, सल्फर, सोडियम, फोसफोरस, कैल्शियम बालों का झड़ना कम करते हैं और बालों को बढ़ने में मदद करते हैं।


14. खाज-खुजली को ठीक करने में सहायक - रूखी-सूखी त्वचा और खाज-खुजली की समस्या बहुत से लोगों को होती है। आहार में खीरे की पर्याप्त मात्रा शामिल करके या खीरे का रस प्रभावित हिस्से पर लगाकर इससे राहत मिलती है। खीरे में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो त्वचा को पोषण प्रदान करते हैं और राहत पहुंचाते हैं।


15. त्वचा की चमक बढ़ाने के लिए प्राकृतिक ब्लीच - खीरे में विटामिन सी होता है, जो त्वचा के लिए प्राकृतिक ब्लीच के रूप में काम करता है। हफ्ते में एक बार खीरे का फेस पैक त्वचा पर लगाने से चेहरे की रंगत बढ़ाने और दाग-धब्बे दूर करने में मदद मिलेगी।


खीरे के दुष्प्रभाव


     लोगों में खीरे के कुछ दुष्प्रभाव देखें गए हैं। अगर संतुलित मात्रा में इसका सेवन न किया जाए तो यह शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे होने वाले दुष्प्रभावों की सूची में साइनसाइटिस, सर्दी, स्किन एलर्जी, हृदय और रेनल समस्याएं आती है। अगर खीरा खाने के बाद आपको इनमें से कोई लक्षण नज़र आता है, तो इसका सेवन करने से बचें और डॉक्टर से संपर्क करें।


निष्कर्ष (Conclusion)


      खीरा स्वास्थ्य के बहुत लाभकारी होता है क्योंकि इसमें सभी आवश्यक पौष्टिक तत्व होते हैं। चेहरे पर खीरे का इस्तेमाल करना भी लाभकारी है क्योंकि यह चेहरे को स्वस्थ बनाता है। लेकिन संतुलित मात्रा में इसका सेवन करना आवश्यक है। खीरे को अपने आहार में शामिल करें और इसके पौष्टिक लाभों का आनंद ले।


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।