कब्ज (constipation) दूर करने के लिए चमत्कारिक उपाय

कब्ज (constipation) दूर करने के लिए चमत्कारिक उपाय



         कहते है के व्यक्ति की सब बीमारियो की जड़ पेट से शुरू होती हैं, और पेट के रोग कब्ज से शुरू होते हैं। आज कल हर 100 में से 90 व्यक्ति कब्ज से पीड़ित हैं, यही अधिकतम बीमारियो की जड़ हैं। अगर हम सिर्फ कब्ज को ही सही कर दे तो अनेका-अनेक रोग हमारे चुटकी बजाते ही सही हो जाएंगे। 


        कब्ज वाले मरीज विशेष ध्यान देवे, वो अपनी पूरी दिन चर्या में कम से कम ३ से ४ लीटर पानी अवश्य ही पिए। भोजन में पानी और तरल पदार्थो की कमी से अक्सर ये समस्या उभर कर आती हैं। सर्वप्रथम आप अपनी दिन चर्या में पानी और फलो के रस का सेवन करना शुरू करे। और ध्यान रहे भोजन के साथ पानी नहीं पीना। भोजन के एक घंटे पहले या बाद में ही पानी पिए। भोजन के दौरान आप छाछ पी सकते हैं।


तो आइये हम जाने इस कब्ज रुपी राक्षस को ख़त्म करने के सरल और असरदार उपाय।


1. दो चुटकी आजवाइन का चूर्ण मट्ठे में मिलाकर घूंट-घूंट कर पीने से दो तीन-दिन में ही कब्ज ठीक हो जाएगी।


2. सवेरे उठकर खाली पेट दो सेब खाने से कब्ज नही रहेगी।


3. बारीक़ कपड़े पर पुल्टिस की तरह गीली पट्टी लपेट कर रात भर अपने पेडू पर रखिए। अवश्य लाभ होगा।


4. रात को सोने से पहले एक चम्मच शहद एक गिलास ताजे पानी में मिलाकर पीजिए, कब्ज नही होगा।


5. प्रात; काल बिना कुछ खाए ५ ग्राम दाने मुनक्का खाने से कब्ज दुर होता है।


6. रात को नीबू काटकर रख दे। सवेरे उसकी शिंकजी बना कर पी ले। इसे पीने से कब्ज दूर होगा।


7. दो बड़े पीले पके संतरों का रस प्रात; नाश्ते से भी पहले पिएं। एक हफ्ते में पुराना से पुराना कब्ज दूर हो जाएगा।


8. ली हरड़ को घी में भून कर फुला ले। फिर उसमे उतना ही काला नमक मिलाकर पीस कर चूर्ण बना ले। इस चूर्ण को रात को सोते समय गुनगुने पानी के साथ लगभग एक छोटा चम्मच ले। बस, सुबह उठने के साथ ही खुलकर दस्त आयेगी। ऐसा हफ्ते में एक या दो बार करते रहे। कब्ज की शिकायत सदा की लिए दूर हो जाएगी।


9. बीट की पंत्तियो को टमाटर या सलाद के साथ मिलाकर खाने से कब्ज की शिकायत दूर होती है।


10. यदि आप बिना छाने आटे की मोटी रोटी चबा चबाकर खाएं, तो कभी कब्ज नही होगा।


11. त्रिफला २० ग्राम, रात को २५० ग्राम पानी में भिगो कर रखे, सुबह शौच क्रिया करने के पूर्व त्रिफला का निथरा हुआ जल पिएँ, कब्ज दूर हो जाएगा।


12. कटी हुई हरड रात को फांक कर, ऊपर से २५० मि. ली. गुनगुना पानी पी ले। सुबह उठते ही पेट साफ़ हो जाएगा।


13. अंजीर 7-8 ले कर के पानी में उबाल कर उसका काढ़ा बना ले। रात को सोते समय यह काढ़ा पिए, तीन-चार दिनों तक लगातार पीने से कब्ज की शिकायत हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी, पर यदि दस्त अधिक आने लगे, तो काढ़ा पीना फौरन बंद कर दे।


14. गाजर, मूली, बीट, शलगम, टमाटर, पालक की पत्तियां, चोलाई और बीट की पतियों को सलाद में नारियल की गिरी के छोटे टुकड़े मिलाकर भोजन के साथ या उसके बाद खाएं, पुराना से पुराना कब्ज ठीक हो जाता है।


15. खाली पेट एक गिलास पानी में एक नीबू का रस व एक ग्राम सेंधा नमक मिलाकर कुछ दिन सेवन करे। इससे पुराना से पुराना कब्ज भाग जाता है।


16. सोने से पहले गुनगुना पानी के साथ ३ ग्राम सौंफ का चूर्ण लेने से कब्ज में फायदा होता है।


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।