भला कोई इंसान इतना  हैवान कैसे हो सकता है 

भला कोई इंसान इतना  हैवान कैसे हो सकता है                               


       दिल्ली में वैसे तो लगभग ४६ लोग मारे गए..आन रिकार्ड ‼.. लेकिन उसमें दो ऐसी घटनाएं हैं जिससे प्रत्येक व्यक्ति का हृदय पूरी तरह से व्यथित है . इन दोनों भयानक घटनाओं का कारण कोई व्यक्तिगत नहीं था ‼.. बस दोष इतना ही था कि , वह हिन्दू था..
          भला कोई व्यक्ति कैसे.. किसी को जीते जी चार सौ बार चाकुओं से गोद सकता है 
      क्या कोई इंसानी मानसिकता का व्यक्ति ऐसा कर सकता है..कदापि नहीं और इससे भी दिल दहला देने वाली  एक और मौत १३ साल की नाबालिग हिंदू बच्ची जिसके साथ लगभग..पोस्टमार्टम के आधार पर ५० मुस्लिम दानवों  का झुंड उसके साथ लगातार रेप करके मार डाला 


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।