भारत का हाल

एक गाय सुखपूर्वक गौशाला में रहती थी                                       
एक दिन बहुत जोरो की बारिश हो रही थी
और रात में एक भीगता हुआ कुत्ता आया
उसने गाय से पूछा
ए गाय माता, क्या हम आपकी गौशाला में आ जायें
एक कोने में पड़े रहेंगे।
गाय ने कुत्ते को शरण दे दी।
पीछे पीछे एक सांप आता है और शरण मांगता है
तो कुत्ता बीच में बोलता है कि हाँ हाँ आजाओ बहुत जगह है यहां पर
हालांकि गाय को बुरा लगता है पर स्वभाव-वश वो शांत रहती है।
समय बीतने के साथ इसी तरह से बिच्छू सुअर गधा और बाकी जानवर भी गौशाला में शरण ले लेते हैं।
पर संख्या अधिक हो जाने से सबको कष्ट होने लगा।


गाय फिर भी चुप रहती।.......


और एक रात सारे शरणार्थी जानवर मिल कर फैसला करते हैं कि हमें क्यों तकलीफ हो?
और सबसे ज्यादा जगह तो ये गाय ही घेरे है तो क्यों न इस गाय को ही भगा दें।
और दूसरे दिन ही सब जानवर मिलकर आसरा देने वाली उस गाय को ही गौशाला से बाहर करने में लग जाते हैं।
..................................


साहब !!!भारत का हाल भी उसी गौशाला जैसा है......


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।