हिन्दुओ की माता बहनो पर अत्याचार क्यों हुए

 


हमारी हिन्दुओ की  बहन, बेटियों और माताओं की अफगनिस्तान में  2-2 दीनार बोली क्यो लगी ? 


उत्तर - 18 पुराण की वजह से ।


गजनवी ने सन 1026 मैं सोमनाथ मंदिर को लूटा तब उसने यहां से अनेक भारतीय बेटी ,बहन,  और माताओं को  ले जाकर अफगानिस्तान के बाजार में दो-दो दिनार में बेचा है।  ये  इतिहास में दर्ज है। इसकी वजह ये 18 पुराण (मारकण्डेय, भविष्य, भागवत, ब्रह्मवैवर्त्त, ब्रह्माण्ड, शिव, विष्णु, वराह, लिंग, पद्म, नारद, कूर्म, मत्स्य, अग्नि, ब्रह्म, वामन, स्कन्द गरुड) है ।  
 जब वेद के अनुसार हमारा जीवन था ,तब माता सीता के अपहरण पर मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम ने उस समय के सबसे बलशाली योद्धा , राजा रावण के किले को ध्वस्त कर दिया था। 
जब हमने वेद को छोड़ा और वेद के सार के नाम पर 18 पुराण की पोपलीला शुरू हुई तो हमारी बहन बेटियों की इज्जत नीलाम होती रही और हम चुप बैठे रहे।


इन वेद विरुद्ध 18 पुराणों के आधार पर ही ईश्वर का अवतार होता है, ईश्वर का जन्म होता है, फलित ज्योतिष , फलित मुहर्त, मांसाहार और सारा पाखंड इन्ही से शुरू होता है । जबकि ये पाखंडी नाम वेद शास्त्र  का ही लेते है , और काम वेद विरुद्ध करते है ।
जब तक समाज से इन 18 पुराण के असत्य को हटाया नहीं जाता तब तक समाज मे  अनेक मानव ,अवतार बनकर जन्म लेते रहेंगे ,और अनेक मत बनते चले जाएंगे । यह सभी मत मानव में भेद करने वाले हैं।
इन 18 पुराण में कुछ सत्य बात भी है जो वेद सम्मत है उनका समाज मे प्रचार हो और जो असत्य है उनको हटाया जाए ।


 वेद में पूरा विज्ञान दिया हुआ है उसको समझने के लिए आपको वेद विज्ञान- आलोक पढ़ना ही होगा , जिसमें आधुनिक विज्ञान की अविद्या और वैदिक विज्ञान की विद्या दोनों को अच्छी तरह समझाया  हुआ है जिससे आपकी  समझ में अच्छी तरह से आ जाएगा।


18 पुराण में जो असत्य लिखा हुआ है हम उस पर शास्त्रार्थ के लिए तैयार है परंतु शास्त्रार्थ करने वाला भौतिक वैज्ञानिक चाहिए , क्योंकि वेद विज्ञान हैं तो विज्ञान पर चर्चा करने के लिए वैज्ञानिक ही ही चाहिए।


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।