भजन

                                                                                                                                   
हे जगदीश्वर हे भगवान बहुत निराली तेरी शान २
विश्व विधाता ईश महान बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


अमर अनादि अनन्त अनूपा
नित्य सनातन सत्य स्वरूपा २
अलख निरञ्जन शक्तिमान बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


मात पिता बन्धु और भ्राता
रक्षक पालक तू सुखदाता २
तू सबका प्राणों का प्राण बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


मंगल जनक अमंगलहारी
कष्ट विदारक पर उपकारी २
दीन दया कर कृपा निधान बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


पतितपावन शंकर स्वामी
परम सहायक अन्तर्यामी २
पथिक करें तेरा गुणगाण बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


हे जगदीश्वर हे भगवान बहुत निराली तेरी शान २
विश्व विधाता ईश महान बहुत निराली तेरी शान
हे जगदीश्वर ...


 


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।