विचार कण

विचार कण


   ★ अपने में हर समय कमियों को ढूंढ़ो और उनको मिटाने का प्रयत्न करो। दूसरों की खूबियों को             देखो और उनको अपने में धारण करो। इसी प्रकार तुम सुखी रह सकते हो।


   ★ जो समय की कदर करते है वे ही संसार में इज्जत पाते है।


   ★ मनुष्य जीवन को सुखी बनाने का प्रथम साधन, ब्राह्म मुहूर्त में उठना है।


   ★ आज पढ़ना तो सभी जानते है, परन्तु क्या पढ़ना चाहिए यह बहुत कम लोग जानते है।


   ★ लक्ष्मी के सात साधन है -


      १. धैर्य, २. क्षमा, ३. इन्दिय दमन, ४. पवित्रता, ५. करूणा, ६. कोमल वचन, ७. मित्रों से प्रेम


   ★ चार वेद, पटशास्त्र में बात मिली है तीन


       हृदय ओ३म्, मन में दया, तन सेवा में लीन।


   ★ अन्तर्मुख साधन करो, सरल रखो व्यवहार


       राग-द्वेष को छोड़कर, सबसे करो व्यवहार।।


   ★ सुखी रहने के तीन उपाय है।


       प्रिय भाषण, परोपकार एवं सत्संग


 


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।