लेबनान से सीखिए मुस्लिमों घुसपैठियों के प्रति सहिष्णुता का परिणाम क्या होता है। - Sandeep Deo

 



NRC क्यों जरूरी है ?
लेबनान से सीखिए मुस्लिमों घुसपैठियों के प्रति सहिष्णुता का परिणाम क्या होता है।
- Sandeep Deo


एक देश, जिसने मुस्लिम शरणार्थियों के लिए बॉर्डर खोला, और फिर मिटा दिया गया!


1960-70 के दशक तक मिडिल-ईस्ट में एक मात्र ईसाई बहुल देश था लेबनान। लेबनान ने फिलिस्तीनी-जॉर्डन मुस्लिम शरणार्थियों के लिए अपना बार्डर खोला, और देखते ही देखते लेबनान का पूरा चरित्र ही बदल गया। ईसाइयों के नरसंहार से लेकर धर्मांतरण तक की बाढ़ आ गयी, और लेबनान कुछ दशकों के अंदर शरिया आधारित मुस्लिम देश बन गया। क्रिश्चियन और यहूदी मार डाले गये या जबरदस्ती मुसलमान बना दिए गये!


#CAA के विरोधियों की असली मंशा रोहिंग्या और पाकिस्तानी-बंग्लादेशी घुसपैठियों को यहां बसाना, और फिर कुछ दशक बाद हिंदुओं का खात्मा करते हुए भारत को इस्लामी राज्य बनाना है। इसीलिए सड़क से टीवी स्टूडियो तक जगह-जगह हिंदुओं के खिलाफ नारे, और इस्लामी देशों के मुस्लिमों को नागरिकता देने का अभियान चलाया जा रहा है। 


आप सब यह वीडियो जरूर देखिए, ताकि आप उस खतरे को रोक सकें जो लेबनान की तरह भारत को शरिया कानून के अधीन लाने (गजवा-ए-हिंद) के लिए चल रहा है! धन्यवाद!


#संदीपदेव


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।