आर्थिक स्थिति बिगड़ने और मानसिक तनाव बढ़ने के कारण

आर्थिक स्थिति बिगड़ने और मानसिक तनाव बढ़ने के कारण


      पिछले कुछ वर्षों में अधिकांश घरों की आर्थिक स्थिति बिगड़ने और मानसिक तनाव बढ़ने के 10 मुख्य कारण


1. घर के सभी सदस्यों के पास महंगे स्मार्ट फोन।
2. देखा-देखी बाहर घूमने जाने का ट्रेंड।
3. बाईक से काम चले वहां भी  स्टेटस के लिये कार चाहिए ।
4. घर के भोजन के बजाय  विकेन्ड पर बाहर खाने का चस्का।
5. ब्युटी पार्लर, सलून, ब्रान्डेड कपड़ों की चाहत।
6. जन्मदिन और मैरेज एनिवर्सरी में पैसों का गलत व्यय।
7. सगाई और शादी में दिखावे के लिये हैसियत से अधिक गैर-जरूरी खर्च।
8. प्राईवेट स्कूल में पढ़ाने की फैशन और स्कूल व ट्यूशन फीस में वृद्धि।
9. गलत लाईफ स्टाईल के कारण मैडिकल खर्च में बढ़ौतरी।
10. लोन की ऊंची ब्याज दर और क्रेडिट कार्ड के कारण अधिक चीजें खरीदने की गलत आदत।


          इन खर्चों के कारण न तो हमारी  कमाई में वृद्धि नहीं हो रही और न ही बचत हो रही है । परिणाम स्वरुप अधिकांश घरों में अशांति है मानसिक तनाव है । गैर-जरूरी खर्चों को कम करो।
इंसान की मूल जरूरत रोटी, कपड़ा और मकान थी, है और रहेगी।
          इंसान के आज कम उम्र से ही  बीमार होने , दुखी रहने और असफल होने का कारण है हम जीवन जीने का तरीका भूल गए है ।
           घर का शुध्द भोजन खाइये और दिखावे को त्यागकर आनंद से जीना सीखे ।दुनिया को देखने का नजरिया बदलिए ।दुनिया मे आप जैसे लाखो करोड़ो है कौन किसकी परवाह करता है इसलिए दुसरो की राह पर न चले अपनी राह खुद बनाये ।
         अमीरी और गरीबी भाग्य द्वारा तय है किंतु कर्म विचार और जीवन जीने का तरीका आपके पास सुरक्षित है ।


Popular posts from this blog

वैदिक धर्म की विशेषताएं 

ब्रह्मचर्य और दिनचर्या

अंधविश्वास : किसी भी जीव की हत्या करना पाप है, किन्तु मक्खी, मच्छर, कीड़े मकोड़े को मारने में कोई पाप नही होता ।